male female shaking hand

स्वीज़रलैंड में सीरिया के दो मुस्लिम छात्रों द्वारा अपनी महिला टीचर से हाथ न मिलाने के कारण उनके परिवार को दी जा रही नागरिकता की प्रक्रिया रोक दी गई है।

अलआलम टीवी के अनुसार उत्तरी स्वीज़रलैंड के बाल क्षेत्र के प्रशासन ने इस बात की ओर संकेत करते हुए कि एक सीरियाई परिवार को नागरिकता प्रदान करने की प्रक्रिया जनवरी में आरंभ हुई थी, बताया है कि इस परिवार के 14 और 15 साल के दो लड़कों ने अपनी महिला टीचर से हाथ मिलाने से, जो स्वीज़रलैंड के स्कूलों में एक प्रचलित विषय है, इन्कार कर दिया है। यह स्कूल इन दोनों छात्रों को अपनी टीचर से हाथ न मिलाने की अनुमति देने पर सहमत हो गया था लेकिन इस पर व्यापक रूप से आपत्ति होने लगी, यहां तक कि स्वीज़रलैंड के गृहमंत्री ने भी इस पर आपत्ति की और कहा कि हाथ मिलाना हमारी संस्कृति का एक भाग है और आस्था की स्वतंत्रता के नाम पर इन दो छात्रों द्वारा इस काम से इन्कार स्वीकार्य नहीं है।

यूरोपीय देशों में, मुसलमानों की धार्मिक शिक्षाओं के अंतर्गत किए जाने वाले इस प्रकार के कामों पर एेसी स्थिति में कड़ी प्रतिेक्रिया दिखाई जाती है और धर्म व आस्था की स्वतंत्रता की अनदेखी की जाती है कि जब इन देशों के लेखक व प्रकाशन केंद्र अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर निरंतर मुसलमानों की धार्मिक आस्थाओं का अनादर करते हैं और कोई भी यूरोपीय संस्था उन्हें इससे रोकने की कोशिश नहीं करती।

Parstoday


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें