ब्रिटेन में हाल ही में कई आतंकी हमलें हुए है. इन हमलों के बाद मुस्लिम बच्चों को  परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है. स्कूलों में मुस्लिम बच्चों को अपने सहपाठियों के जारिए ‘आतंकवादी कहा जाता है.

हेल्पाइन ‘चाइल्डलाइन ‘ के अनुसार ,मेंनचेस्टर एरिना में हुए आतंकी हमले के बाद इस तरह के मामले ज्यादा बढ़ गए और स्थिति यह रही कि अब तक 300 से अधिक काउंसलिंग सत्र आयोजित किए गए. पिछले तीन वर्षो में 2,500 काउंसलिंग सत्र आयोजित किए गए.

और पढ़े -   नेतन्याहू के साथ अल-सिसी की बैठक, मिस्री राष्ट्रपति बोले - फिलिस्तीनी इजरायलियों के साथ मिलकर रहे

‘चाइल्डलाइन ‘ के अनुसार, अब नौ साल के छोटे मुस्लिम बच्चों पर आतंकवादी होने के आरोप लगाए जा रहे हैं. मुस्लिम बच्चों ने चाइल्डलाइन को बताया कि उन्हें ज्यादातर उल्टे-सीधे नामों से पुकारा जाता है और उन पर इस्लामिक स्टेट (ISIS) से मिले होने का आरोप लगाया जाता है.

साथ ही, इन बच्चों ने धमकाए जाने और मार-पीट किए जाने की भी शिकायत की. छोटी बच्चियों और लड़कियों ने बताया कि हिजाब के कारण अक्सर उनके साथ बदसलूकी की जाती है.

और पढ़े -   रोहिंग्याओं के नरसंहार को रोकना है तो म्यांमार पर लगे कड़े प्रतिबंध: ह्यूमन राइट्स वॉच

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE