आतंकवाद को लेकर आॅस्ट्रेलियाई अटॉर्नी जनरल ने मुसलमानों को दुनिया का सबसे बड़ा पीड़ित समुदाय करार दिया है. उन्होंने कहा, मुस्लिम समाज अन्य समाजों से अधिक आतंकवाद की बलि चढ़ रहा है.

जाॅर्ज ब्रेंडिस ने गुुरुवार को कहा कि आॅस्ट्रेलिया में रहने वाले मुस्लिम शरणार्थियों को आतंकवादी नहीं समझा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि आॅस्ट्रेलिया में मुसलमान अन्य धर्मों के मानने वालों की तुलना में आतंकवाद की अधिक बलि चढ़ रहे हैं.

और पढ़े -   मुस्लिम देशों में एकता वक्त की जरुरत: एर्दोगान

वन नेशन पार्टी के सिनेटर ब्रायन बोरिस्टन ने भी इस देश की गुप्तचर सेवा के प्रमुख लूइस डंकन से मांग की है कि वे अपने पद से त्यागपत्र दें. उन्होंने डंकन पर आतंकवाद और शरणार्थियों के बीच संंबंध के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में सेनेट को गुमराह करने का आरोप लगाया.

आॅस्ट्रेलिया में आतंकवाद और शरणार्थियों के बीच संंबंध के समर्थकों का कहना है कि इस देश में हुए पिछले तीन आतंकी हमले, शरणार्थियों ने ही किए थे. आॅस्ट्रेलिया के अटॉर्नी जनरल जाॅर्ज ब्रेंडिस ने इसी तरह मुसलामनों और आतंकवाद के बीच संबंध के बारे में देश के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी एबोट के बयान को भी रद्द कर दिया.

और पढ़े -   स्पेन: बार्सिलोना में आतंकी हमला, कार से कुचलकर 13 लोगों की मौत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE