अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और संयुक्त अरब अमीरात सशस्त्र बलों के सुप्रीम कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयन ने अल मुश्रिफ इलाके में शेख मोहम्मद बिन जायद मस्जिद का नाम बदलकर ‘‘मरियम उम्म ईसा’ यानि ईसा की माँ के रूप में बदल दिया है। इस कदम का उद्देश्य विभिन्न धर्मों के अनुयायियों के बीच सामाजिक संबंधों को बढ़ावा देना है और उनके बीच सामान्य विशेषताओं को मजबूत करना है।

शेख लुब्ना अल कासिमी, टॉलरेंस राज्य मंत्री, ने इस कदम की सराहना करते हुए कहा कि यह शेख मोहम्मद की “शुद्ध मानवता को दर्शाता है और संयुक्त अरब अमीरात में असली सहिष्णुता और सह-अस्तित्व की उज्ज्वल छवि पेश करता है”।

उन्होंने कहा कि मस्जिद का नाम ‘मरियम, इसा की माँ’ के रूप में सहिष्णु गुण है, खासकर जब यह कार्यक्रम ‘जयाद मानवतावादी दिवस’ यानि बुधवार (रमजान 19) के दिन मनाया गया।

उन्होंने कहा, यह मस्जिद ऐसी जगह में स्थित है जो सहिष्णुता, भाईचारे और सह-अस्तित्व के मूल्यों को दर्शाती है, यह यूएई के नेतृत्व, सरकार और लोगों की सहिष्णुता के मिशन को दर्शाता है। शेख लबना ने शेख मोहम्मद की विभिन्न मानवतावादी पहल की प्रशंसा की।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE