सऊदी अरब – यमन में संघर्षरत हुती विद्रोहियों ने मुस्लिम समुदाय के सबसे पवित्र सहर मक्का को निशाना बनाते हुए मिसाइल दाग डाली लेकिन सऊदी अरब ने इस मिसाइल को निशाने पर पहुँचने से पहले ही नष्ट कर दिया.

मीडिया की खबरों के मुताबिक यह पहली बार है जब हूति विद्रोहियों ने सऊदी अरब के पवित्र सहह्र पर मिसाइल से हमला करने की कोशिश की है. सऊदी अरब की न्यूज़ एजेंसी ने इस खबर की पुष्टि की है.

और पढ़े -   ट्रम्प का सऊदी दौरा अरब देशों के कमज़ोर करने और इस्राईल की मदद करने के लिए है

मिसाइल को लक्ष्य से पहुँचने से पहले ही सऊदी सेना ने इस हमले को नाकाम कर दिया, मक्का पहुचने से लगभग 65 किलोमीटर पहले ही इस हवा में मार गिराया गया.

इसने बताया कि इस मिसाइल से किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। जहां से इस मिसाइल को लांच किया गया सेना ने उस जगह को निशाना बनाकर हमले किए गए हैं।

और पढ़े -   ट्रम्प की सऊदी अरब की यात्रा का मकसद मध्य पूर्व के लिए नाटो की तरह एक संगठन बनाना

 

सऊदी का यह हूती संगठन 2015 से ही यमन में शिया विद्रोहियों से लड़ रहा है। ऐसा माना जाता है कि इन विद्रोहियों को रुस का सहयोग प्राप्त है। जिनके पास रूस की स्कड मिसाइलें और स्थानीय तौर पर डिजाइन हथियारों का भंडार है।सऊदी अरब की अगुआई वाली गठबंधन सेना ने यमन के विद्रोहियों (हूति) के खिलाफ 2015 में ऑपरेशन शुरू किया था।

और पढ़े -   ब्रिटेन: पॉप सिंगर एरियाना ग्रैंड के शो के दौरान भीषण धमाका, 19 हताहत व 50 घायल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE