अरब लीग के सदस्य और पश्चिम अफ्रीकी देश मॉरिटानिया ने मंगलवार को कतर के साथ संबंध तोड़ दिए है. मॉरिटानियन सूचना एजेंसी द्वारा अरबी में प्रकाशित विदेशी मामलों के मंत्रालय की और से जारी बयान में कहा गया कि कतर की नीतियां आतंकवादी संगठनों के समर्थन में और उग्रवादी विचारों के प्रचार से जुडी है.

कतर के साथ संबंध तोड़ने के लिए मॉरिटानिया नौवें देश बन गया है. इससे पहले मंगलवार को जॉर्डन ने दोहा और कई अन्य अरब राज्यों के बीच “संकट के कारण” कतर के साथ अपने राजनयिक प्रतिनिधित्व को घटा दिया है. साथ ही जार्डन ने टीवी चैनल अल जज़ीरा का लाइसेंस रद्द कर दिया.

और पढ़े -   बांग्लादेश की पीएम शैख़ हसीना को मारने की कोशिश में 10 लोगों को मौत की सज़ा

सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र और बहरीन ने सोमवार को कतर के साथ सभी संबंधों को तोड़ दिया था. वहीँ यमन, मालदीव और मॉरीशस ने भी कतर के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई की है.

हालांकि इसी बीच कुवैत और तुर्की इस मामलें को बातचीत के जरिए सुलझाने के लिए आगे आये है. इस बाबत कुवैत आमिर शेख सबा अल अहमद अल-जाबिर अल-सबा ने सऊदी अरब और क़तर के शासको से बातचीत की.

और पढ़े -   सवा लाख अवैध हाजियों को मक्का से वापस भेजा गया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE