rohingya-musl

रोहिंग्या मुसलमानों के कत्ले आम के विरोध में मलेशिया म्यांमार सरकार के खुलकर विरोध में आ गया हैं. देश में म्यांमार के बड़ते विरोध के कारण मलेशियाई राष्ट्रीय फुटबॉल टीम ने म्यांमार के साथ खेले जाने वाले दो दोस्ताना अंडर-22 मैच रद्द कर दिए हैं.

मलेशिया और म्यांमार के बीच 9 और 12 दिसंबर को रंगून में सुजुकी कप के तहत फुटबॉल मैच होने वाले थे. लेकिन म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचारों के कारण देश भर में इन फुटबॉल मैच का विरोध हो रहा था. जिसके बाद मलेशियाई राष्ट्रीय फुटबॉल टीम ने ने सुजुकी कप में हिस्सा न लेने का फैसला किया हैं.

इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए मलेशिया के खेल मंत्री खेरी जमालुद्दीन ने बुधवार को कहा कि जिस तरह मुसलमानों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है, इस वजह से यह आसियान सदस्यता की समीक्षा की जानी चाहिए. पिछले शुक्रवार ही मलेशिया के विदेश मंत्रालय ने इस मामले को लेकर म्यांमार के राजदूत को तलब किया हैं.

मुस्लिम बहुल मलेशिया के मंत्रिमंडल ने पिछले सप्ताह ही एक बयान जारी कर Association of Southeast Asian Nations (ASEAN) के सदस्य देशों के सामने इस नरसंहार की आलोचना कर सदस्य देशों से हस्तक्षेप करने की मांग की थी.

वहीँ उप प्रधानमंत्री जाहिद हमीदी ने मलय मेल ऑनलाइन से बातचीत में रोहिंग्या मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार पर गहरी चिंता प्रकट की.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें