मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में गुरुवार की सुबह एक इस्लामिक स्कूल में आग लगने से 25 लोगों की मौत की खबर है. जिनमे ज्यादातर संख्या बच्चों की है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार आग ‘ताहफिज दारूल कुरान इत्तेफाकियाह’ नामक दो मंजिला इमारत में लगी. मरने वालों में 23 छात्र और दो वार्डेन शामिल हैं.  मलेशिया सरकार के अनुसार, यह घटना देश में अभी तक हुई आगजनी की सबसे भीषण घटनाओं में से एक है.

और पढ़े -   कुर्दिस्तान के रूप में दूसरा इजरायल बनाने की साजिश, समर्थकों ने लहराए इजरायली झंडे

स्थानीय अधिकारीयों ने बताया कि 5 बजकर 15 मिनट पर ये घटना घटित हुई. जिसके तुरंत बाद ही सहायता अभियान आरंभ कर दिया गया और इमारत से घायलों और शवों को बाहर निकाला गया. सहायताकर्मियों का कहना है कि अधिकतर लोग दम घुटने के कारण मारे गये.

अग्निशमन एवं बचाव विभाग के निदेशक खीरुदीन द्रहमान ने मीडिया से कहा,  पिछले 20 वर्षों में देश में हुई आगजनी की यह सबसे भीषण घटना है.’’

और पढ़े -   ट्रम्प ने दिया क़तर अमीर को भरोसा, सऊदी अरब नहीं करेगा कोई सैन्य कार्रवाई

उन्होंने बताया, करीब एक घंटे में आग पर काबू पा लिया गया था लेकिन इससे पहले वहां भयानक तबाही मच चुकी थी. इस घटना पर मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रज़्ज़ाक़ ने मृतकों के प्रति शोक व्यक्त किया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE