amri

लेबनान के पूर्व राष्ट्रपति एमिल लहूद ने एक बयान में अमेरिका को ‘आतंकवाद का समर्थक’ बताया हैं. सोमवार को जारी एक बयान में उन्होंने कहा अमेरिकी सेना उस सेना पर हमला करती है जो आतंकवादी गुट विशेषकर आईएस से मुकाबला करती है.

उन्होंने आगे कहा कि सीरिया के दैरूज़्ज़ूर क्षेत्र में एक सैनिक ठिकाने पर अमेरिकी युद्धक विमानों का हमला इउस वक्त किया गया जब वाशिंग्टन इन आतंकवादी गुटों का समर्थन न कर सका. जिसमे अमेरिका को सीधे हस्तक्षेप की आवश्यकता थी.

और पढ़े -   केरल: सड़क का नाम रखा गया 'गज़ा', फिलिस्तीनी नाम होने पर उठाई गई आपत्ति

पूर्व राष्ट्रपति कहा कि सीरिया पर इस्राईल के अतिक्रमण के कई दिन के बाद अमेरिका का सीरिया पर हमला हुआ है. उन्होंने कहा कि यह मामला अमेरिका, जायोनी शासन और उनके घटक देशों द्वारा आतंकवादी गुट दाइश के समर्थन का सूचक है.

गौरतलब रहें कि अमेरिकी युद्धक विमानों के हमलें में शनिवार की रात को दैरूज़्ज़ूर में हवाई अड्डे और सीरियाई सैनिक ठिकाने पर 62 सीरियाई सैनिकों की मौत हो गई थी.

और पढ़े -   कठिन परिस्थितियों में भी नहीं छोड़ा फिलिस्तीन का साथ, मुसलमानों में फैलाए जा रहे मतभेद: सीरिया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE