कुवैती ने 2015 के जासूसी मामले में 12 लोगों को किया गिरफ्तार को गिरफ्तार किया है. ये सभी ईरान और लेबनान के नागरिक है. इन सभी को हिजबुल्ला के लिए जासूसी करने के मामले में दोषी करार दिया गया है.

दरअसल 2015 में कुवैत के अधिकारियों ने दावा किया था कि उन्होंने ईरान से जुड़े अब्दाली सेल के लोगों को भारी मात्रा में हथियार विस्फोटक के साथ पकड़ा है. इस दौरान दो लोगों को मौत की सजा सुनाई गई थी. इसके अलावा 25 कुवैती नागरिकों के साथ मुकदमा चलाया गया था.

हालांकि बाद में कुवैती अदालत ने मौत की सजा के फैसले को उलटते हुए कुछ अन्‍य दोषियों की सजा घटा दी थी. इनमे एक व्यक्ति को उम्रकैद और 19 को पांच से 15 साल तक की जेल हुई थी. इस दौरान कुवैत ने एक एक ईरानी नागरिक की संलिप्ता का दावा किया था.

हालांकि ईरान ने इस मामले में किसी भी तरह की भागीदारी से इनकार किया था. कुवैती मंत्रालय द्वारा दिए गए एक बयान में कहा गया है, ‘सुरक्षा अधिकारियों ने 2015 के ईरानी जासूसी मामले में 12 दोषियों को अलग-अलग क्षेत्रों में गिरफ्तार किया गया है.

कुवैती अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में अब भी तक दो लोग और फरार है, जिन्‍हें दोषी ठहराया गया था. इन सभी कोअब्दाली सेल मामले में सजा सुनाई गई है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE