कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर चीन ने अपनी नई शर्त रख दी है, जिसके तहत भारत को सिक्किम से अपनी सेना हटानी होगी. चीन पहले कैलाश मानसरोवर यात्रा पर रोक लगा चूका है. साथ ही भारतीय सीमा का अतिक्रमण भी कर चूका है.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा कि अपनी क्षेत्रीय अखंडता को लेकर हमारा रुख दृढ़ है. उम्मीद है कि भारत इस दिशा में चीन के साथ काम करेगा और चीन सीमा में आए अपने सैनिकों को तुरंत वापस बुलाएगा. उन्होंने कहा कि हाल में जब भारतीय सेना ने चीन सीमा में घुस कर निर्माण कार्य में बाधा पहुंचाई तब हमने जरूरी कार्रवाई की. सुरक्षा कारणों के चलते हमने भारतीय तीर्थयात्रियों की कैलास यात्रा रोक दी. अब यह यात्रा भारत की तरफ से उठाए गए कदम पर निर्भर करेगी.

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति ने सयुंक्त राष्ट्र से रोहिंग्या के लिए 'मजबूत और तेज' कार्रवाई का आग्रह किया

हाल ही में चीनी सैनिकों ने सिक्किम में अंतराष्ट्रीय सीमा को पार कर भारतीय सैनिकों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए धक्कामुक्की की थी और दो बंकर भी तोड़ डाले थे.

गौरतलब रहें कि भारत-चीन के बीच ताजा तनातनी की शुरुआत तिब्बती अध्यात्मिक गुरू दलाई लामा के पूर्वोत्तर के दौरे पर शुरू हुई. चीन ने तब चेतावनी दी थी कि इस दौरे की कीमत भारत को द्विपक्षीय संबंधों में चुकानी पड़ेगी.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर आंग सान सु ने तोड़ी चुप्पी कहा, रोहिंग्या म्यांमार में आतंकी हमलो में शामिल, अन्तराष्ट्रीय दबाव नही झुकेंगे

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE