आस्ताना में गुरुवार को समाप्त हुई सीरिया की चौथी अंतर्राष्ट्रीय बैठक में हुए फैसले के खिलाफ जार्डन द्वारा सीरिया में सैनिकों की तैनाती को लेकर सीरिया भड़क उठा है. सीरिया के विदेशमंत्री वलीद अल मुअल्लिम ने कहा कि ऐसे में अब जार्डन के मुर्खतापूर्ण कदम का जवाब दिया जाएगा.

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार सीरिया के विदेशमंत्री वलीद अलमुअल्लिम ने सोमवार को कहा कि विध्वंसक युद्ध का स्थान केवल राष्ट्रीय शांति ही ले सकती है और सीरिया की सरकार उन लोगों की ही ओर हाथ बढ़ाने के लिए है जो इस प्रक्रिया में शामिल होना चाहते हैं.

और पढ़े -   उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री बोले, ट्रम्प की धमकी कुत्ते भोकने जैसी

सीरिया के विदेशमंत्री ने तनाव कम क्षेत्रों में तैनात सैनिकों के बारे में कहा कि जैसा कि रूस ने घोषणा की है कि संयुक्त राष्ट्र संघ की निगरानी की कोई भी अंतर्राष्ट्रीय सैनिक इन क्षेत्रों में तैनात नहीं होंगे और समझौते पर हस्ताक्षर करने वालों से आतंकवादियों को अलग किया जाना चाहिए और जिन गुटों ने इस समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं, उन्हें तनाव कम वाले क्षेत्रों से निकल जाना चाहिए.

और पढ़े -   मीडिया पर ढेरों पाबंदी, फिर भी पश्चिम के लिए इजरायल एक लोकतांत्रिक देश

सीरिया के विदेशमंत्री ने कहा कि संकट के आरंभ से अब तक जार्डन की भूमिका हमसे छिपी नहीं है और अब हम जार्डन के साथ उलझना नहीं चाहते किन्तु यदि जार्डन के सैनिकों ने बिना अनुमति के हमारी धरती में घुसपैठ की तो वह हमलावर समझे जाएंगे.

क़ज़ाक़िस्तान की राजधानी आस्ताना में ईरान, रूस, तुर्की की पहल पर सीरिया संकट के बारे में दो दिवसीय वार्ता बुधवार को शुरु हुयी, जिसमें सीरियाई सरकार और विपक्ष के प्रतिनिधियों के साथ साथ सीरिया मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत स्टीफ़न दि मिस्तूरा भी मौजूद थे. इस वार्ता में अमरीका, जॉर्डन और क़ज़ाक़िस्तान पर्यवेक्षक के रूप में शामिल हुए थे.

और पढ़े -   सयुंक्त राष्ट्र में बोले क़तर अमीर: खाड़ी संकट का हल सिर्फ बिना शर्त बातचीत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE