nijami

तुर्की ने बांग्लादेश की जमाते इस्लामी के प्रमुख मुतिउर्रहमान निज़ामी को फांसी दिए जाने पर विरोध जताते हुए ढाका से अपने राजदूत को वापस बुला लिया है।

बांग्लादेश की अदालत ने जमाते इस्लामी बांग्लादेश के प्रमुख मुतिउर्रहमान निज़ामी को मौत की सज़ा सुनाई थी जिसके बाद उन्हें फांसी दे दी गई, इस घटना के बाद जहां बांग्लादेश में जमाते इस्लामी के कार्यकर्ताओं ने कड़ा विरोध कर रहे हैं वहीं तुर्की सरकार और वहां की जनता ने भी कड़ा विरोध किया है।

प्राप्त समाचारों के अनुसार तुर्की के राजदूत गुरुवार को ढाका से वापस अंकारा पहुंचे, तुर्की के विभन्न शहरों सहित वहां की राजधानी अंकारा में बुधवार को तुर्क नागरिकों ने जमाते इस्लामी बांग्लादेश के प्रमुख को फांसी दिए जाने के ख़िलाफ़ व्यापक प्रदर्शन किए थे।

दूसरी ओर पाकिस्तान के अलग अलग शहरों में भी निज़ामी की फांसी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं और कई जगहों पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के  बीच  झड़प होने  की भी सूचना है। उल्लेखनीय है कि मुतिउर्रहमान निज़ामी को ये सज़ा 1971 में पाकिस्तान से आज़ादी की जंग के दौरान युद्ध अपराधों के सिलसिले में मृत्युदंड की सज़ा सुनाई गई थी और सुप्रीम कोर्ट की मुहर के बाद निज़ामी को फांसी दे दी गई।

निज़ामी की फांसी के बाद बंग्लादेश में जमाते इस्लामी के कार्यकर्ता लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं, और कुछ क्षेत्रों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों की बीच भीषण झड़पें भी हुई हैं जिसके कारण दर्जनों लोग घायल हुए हैं।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें