soeren-kern-italy-islam-milano

इटली में मुसलामनों की जनसँख्या 1970 में 2000 के करीब थी जो अब 20 लाख के पार पहुँच गई हैं. जनसँख्या बढोतरी के पीछे शरणार्थियों को माना जा रहा हैं.

इटली के समाजशास्त्री और धर्म अध्ययन केंद्र के प्रमुख मेसिमो ईन्त्रोवीने मुसलमानों की बढ़ती जनसंख्या पर आश्चर्यप्रकट करते हुए कहा कि इटली में मुसलमानों की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है. उन्होंने आगे कहा, वर्ष 1970 में इटली में केवल दो से तीन हज़ार के बीच मुसलमान रहते थे.

और पढ़े -   तुर्की-अरब संबंधों को बढ़ावा देने के लिए कुवैत में होगी 'तुर्की-अरब सांस्कृतिक संचार केंद्र' की स्थापना

हालांकि अब भी इटली में इस्लाम धर्म को ओपचारिक मान्यता नहीं मिली हैं. कैथोलिक ईसाई धर्म के बाद इस्लाम इटली का दूसरा सबसे बढ़ा धर्म है. इटली में सिर्फ चार रजिस्टर्ड मस्जिदें हैं और दो हज़ार स्थान इबादत के लिए रजिस्टर्ड कराए गये हैं.

इसके अलावा इटली सरकार ने  मुसलमानों के साथ देश के अधिकारियों के संबंधों को सरल बनाने के लिए इस्लामी परिषद का गठन भी किया है.

और पढ़े -   भारत की बड़ी मुश्किलें - सऊदी अरब ने विवादित स्कॉलर जाकिर नाईक को दी नागरिकता

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE