इस्राइल ने बैतूल मुक्कदस शहर में यहूदी आबादी वाले इलाकों में 800 नए मकानों के निर्माण को मंजूरी देने की योजना बनाई है. हालांकि इस का बड़े पैमाने पर विरोध हो रहा है. हाल ही में अमेरिका ने भी इस फैसले का विरोध किया था.

सिटी हॉल ने कहा कि वह योजना समिति की आगामी बैठक में 800 मकानों के निर्माण को मंजूरी देगा. वहीँ यरूशलम के मेयर निर बरकत ने एक बयान में कहा कि यरूशलम में निर्माण कार्य जरूरी, महत्वपूर्ण है और पूरी ताकत के साथ यह जारी रहेगा.

और पढ़े -   रोहिंग्या संकट को लेकर म्यांमार में भेजी जा सकती है सेना, ईरान और पाक सैन्य प्रमुख में हुई बातचीत

फिलस्तीन के वरिष्ठ वार्ताकार साएब इरकत ने कहा कि इस्राइल का कदम शांति वार्ता शुरू करने के ट्रंप के प्रयासों को जानबूझकर नुकसान पहुंचाना है.

इस्राइल की घोषणा पर व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर कहा, राष्ट्रपति ट्रंप ने सार्वजनिक और निजी तौर पर निर्माण के संबंध में अपनी चिंता जताई है और प्रशासन ने स्पष्ट कर दिया है कि असंयमित निर्माण गतिविधि से शांति की संभावना नहीं है.

और पढ़े -   ये बिज़नसमेन बुर्का बैन तोड़ने पर दुनिया भर में मुस्लिम महिलाओं का अदा कर रहा जुर्माना

गौरतलब रहें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फिलस्तीन और इस्राइल के बीच शांति वार्ता शुरू करने की योजना है. इसके जरिये वे फिलिस्तीन समस्या को सुलझाना चाहते है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE