इजराइल की बहादुरी के किस्से पश्चिम परस्त मीडिया बड़े ही चाव से सुनाता है, लेकिन कभी उसकी हैवानियत पर एक टिप्पणी करना मंजूर नहीं करता.

बड़े-बड़े सैन्य अभियानों की बात करने वाला इजराइल डेढ़ साल के बच्चें से भी खुद को असुरक्षित महसूस करता है. हाल ही में इजराइल सेना ने सिर्फ़ डेढ़ साल के फिलिस्तीनी बच्चें को अपना निशाना बनाया. जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

पश्चिमोत्तरी रामल्ला के आबूद गांव में ज़ायोनी सुरक्षा बलों की ओर से आंसु गैस के गोले की फ़ायरिंग का ये बच्चा शिकार हुआ था और दो महीने हदासा अस्पताल में भर्ती रहने के बाद शुक्रवार को शहीद हो गया.

इतना ही नहीं गहय्ल होने के बाद इस बच्चें को ज़ायोनी सुरक्षा बलों ने अस्पताल में भर्ती होने से भी रोक दिया था. लेट इलाज मिलने से बच्चें की मौत हो गई.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE