इजराइल की बहादुरी के किस्से पश्चिम परस्त मीडिया बड़े ही चाव से सुनाता है, लेकिन कभी उसकी हैवानियत पर एक टिप्पणी करना मंजूर नहीं करता.

बड़े-बड़े सैन्य अभियानों की बात करने वाला इजराइल डेढ़ साल के बच्चें से भी खुद को असुरक्षित महसूस करता है. हाल ही में इजराइल सेना ने सिर्फ़ डेढ़ साल के फिलिस्तीनी बच्चें को अपना निशाना बनाया. जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

और पढ़े -   वाशिंगटन मामले में डोनाल्ड ट्रम्प ने तुर्की राष्ट्रपति से मांगी माफ़ी, कहा - 'सॉरी'

पश्चिमोत्तरी रामल्ला के आबूद गांव में ज़ायोनी सुरक्षा बलों की ओर से आंसु गैस के गोले की फ़ायरिंग का ये बच्चा शिकार हुआ था और दो महीने हदासा अस्पताल में भर्ती रहने के बाद शुक्रवार को शहीद हो गया.

इतना ही नहीं गहय्ल होने के बाद इस बच्चें को ज़ायोनी सुरक्षा बलों ने अस्पताल में भर्ती होने से भी रोक दिया था. लेट इलाज मिलने से बच्चें की मौत हो गई.

और पढ़े -   अब्बास ने स्वतंत्र फिलिस्तीन के गठन की समयरेखा निर्धारित करने के उठाई मांग

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE