zzz

इजराइल द्वारा फिलिस्तीनी गांव सूसिया को नष्ट करने को लेकर अमरीका और युरोपीय संघ ने इस्राईली प्रधानमंत्री नितिनयाहू और विदेशमंत्रालय को पत्र लिखकर चेतावनी दी हैं कि अगर फिलिस्तीनी गांव सूसिया को ध्वस्त किया गया तो उस पर कड़ी प्रतिक्रिया प्रकट की जाएगी.

फिलिस्तीनियों का सूसिया नामक गांव, पश्चिमी तट पर स्थित है जहां सुरक्षा और प्रबंधन के मामले इस्राईल के हाथों में हैं. रग़ाफीम नामक यहूदियों की कट्टरपंथी संस्था ने वर्ष 2006 में भी सूसिया गांव से फिलिस्तीनियों को बाहर निकालने की मांग की थी.

जिसके बाद इस्राईली सुप्रीम कोर्ट ने इसी संस्था की अपील पर पश्चिमी तट के तूवी नामक एक गांव के सारे घरों को ध्वस्त करने का आदेश दिया और फिलिस्तीनियों को उनके घरों से बेघरकर दिया गया. सूसिया गांव के फिलिस्तीनियों का कहना है कि इस्राईली सरकार, इस बहाने से क्षेत्र से फिलिस्तीनियों को निकाल कर यहूदियों को बसाने चाहती है.

इस गांव के बहुत से घरों को इस्राईल ने गिरा दिया है और इन घरों में रहने वाले फिलिस्तीनी, अपने घरों को गिराए जाने के बाद गुफाओं और टैंटों में रह रहे हैं. हालांकि अंतराष्ट्रीय दबाव के कारण वरिष्ठ इस्राईली अधिकारियों ने उच्च स्तर पर अमरीका और यूरोपीय संघ को यह विश्वास दिलाया गया है कि फिलहाल सूसिया गांव को तबाह करने का कोई इरादा नहीं है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें