बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि इस्लाम में चरमपंथ और आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है और उन्होंने लोगों से अपील की कि इस बात का प्रचार करें.पीटीआई की ख़बर के मुताबिक़ बंगबंधू इंटरनेशनल कांफ्रेंस सेण्टर में उन्होंने लोगों से कहा, ‘‘ मैं लोगों के बीच यह विश्वास स्थापित करने के लिए आपका सहयोग मांगती हूं कि इस्लाम में चरमपंथ और आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है… यह शांति का धर्म है। कृपया इसका प्रचार प्रसार करें। ’’ हसीना ने इस्लामिक विद्वानों और देश के लोगों से इस्लाम के नाम पर विध्वसंक और आतंकवादी गतिविधियों में लगे लोगों के ख़िलाफ़ क़दम उठाने की अपील भी की।

sheikh

उन्होंने मुस्लिम बहुल देश में अल्पसंख्यकों पर हमले समेत इस्लाम-वादियों द्वारा किए गए कई हमलों के आलोक में कहा, ‘‘कृपया चौकस रहिए और ऐसी गतिविधियों से उन्हें दूर रखिए। ’’

हसीना ने इस बात पर अफसोस प्रकट किया कि कुछ देश अक्सर चरमपंथ को इस्लाम से मिला देते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ चंद लोगों की खातिर हमें इस गहरी पीड़ा को उठानी पड़ेगी…. यह हमारे लिए वास्तव में पीड़ादायक है।’’ उन्होंने कहा कि अक्सर निहित स्वार्थी लोग देश में अस्थिरता फैलाना चाहते हैं लेकिन लोगों को भोजन, आश्रय, दवा, शिक्षा सुनिश्चित करने के साथ उन्हें सुरक्षा एवं शांति उपलब्ध कराना सरकार का कर्तव्य है हम उसी दिशा में काम कर रहे हैं।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE