moin

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के ऑल राउंडर मोइन अली के लिए क्रिकेट से ज्यादा महत्वपूर्ण उनका धर्म इस्लाम हैं. इस्लाम के लिए मोईन अली क्रिकेट भी छोड़ सकते हैं.

मोईन अली ने इस बारें में कहा कि इस्लाम की वजह से वो फ्री महसूस करते हैं और इसकी वजह से उन्हें काफी खुशी होती है. बीबीसी से बात करते हुए मोइन अली ने कहा, “मैं सोचता है कि मेरी जिम्मेदारी है कि इस्लाम, मुस्लिमों और ब्रिटिश एशियाई लोगों का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं. ये काफी सकारात्म चीज है”

और पढ़े -   ईरान और तुर्की के बीच बढ़ा सैन्य सहयोग, सऊदी अरब हुआ परेशान

मोईन ने आगे कहा अपने धर्म की वजह से मुझे फ्री महसूस होता है.  जब मैं 18-19 साल का था, तब मैंने सोचा था कि मुझे ऐसी ही जीवन जीना है। ये एकलौती ऐसी चीज है, जिससे मुझे खुशी मिलती है. क्रिकेट मेरे लिए महत्वपूर्ण है, लेकिन इस्लाम से ज्यादा नहीं. अगर मुझे क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा तो ये मेरे लिए आसान होगा.

और पढ़े -   मंसूर हादी यमन युद्ध के लंबा खिचने का मुख्य कारणः अमीराती राजदूत

मोईन अली ने इंग्लैंड के लिए 26 टेस्ट और 39 वनडे मैच खेले हैं. उनके नाम टेस्ट मैच में 66 और वनडे में 39 विकेट लिए हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE