Pope-francis

ईसाईयों के वरिष्ठ धर्मगुरू पोप फ़्रांसिस ने कहा है कि संसार को इस्लाम से कोई भय नहीं है बल्कि भय, आतंकी गुट दाइश की कार्यवाहियों से है।

लंदन से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र अलहयात ने बुधवार को अपने संस्करण में लिखा कि पोप फ़्रांसिस ने फ़्रांस की कैथोलिक पत्रिका “ला करवा” को दिये अपने साक्षात्कार में कहा है कि इस्लााम से भयभीत होने का कोई कारण नहीं है। उन्होंने कहा कि दाइश और उसकी हिंसक कार्यवाहियों से मुक़ाबले की आवश्यकता है जिसने इस्लाम को बहुत नुक़सान पहुंचाया है।

और पढ़े -   अब्दुल कलाम के सम्मान में नासा ने दिया नए बैक्टीरिया को दिया उनका नाम

पोप फ़्रांसिस ने कहा कि यह बात सही है कि देशों पर विजय वह विषय है जो शुद्ध इस्लाम में मौजूद है और यह बात “इंजील मत्ता” में भी आई है क्योंकि हज़रत ईसा ने धर्म के प्रचार के लिए अपने साथियों को पूरी दुनिया में भेजा था।

पोप फ़्रांसिस का कहना था कि मुसलमान और ईसाई एक साथ रह सकते हैं और वे स्वयं एक एेसे देश में जीवन व्यतीत करते हैं जहां मुसलमान और ईसाई एक दूसरे के साथ सम्मान और प्रतिष्ठा के साथ जीवन व्यतीत करते हैं।

और पढ़े -   डोनाल्ड ट्रंप पहुंचे सऊदी अरब - 100 बिलियन डॉलर का होगा रक्षा सौदा, अरब नाटो पर भी बनेगी राय

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE