वाशिंगटन,आईएसआईएस ने अपने लड़ाकों को भयानक संदेश देते हुए अपने ही लोगों को सार्वजनिक रूप से जिंदा जला दिया। आईएसआईएस के जिंदा जलाए गए लड़ाके अपनी जान बचाकर मोसुल भाग आए थे।

isis-5659dd55949b6_exlst

फॉक्सन्यूज डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, मोसुल के कई निवासियों का दावा है कि रमादी शहर पर इराकी बलों द्वारा फिर से कब्जा किए जाने के बाद जब काले कपड़े पहले लड़ाके भाग कर 270 मील दूर मोसुल पहुंचे तो शहर के मुख्य चौराहे पर उन्हें जिंदा जला दिया गया।

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति ने सयुंक्त राष्ट्र से रोहिंग्या के लिए 'मजबूत और तेज' कार्रवाई का आग्रह किया

अब अमेरिका में रह रहे उत्तरी इराक के एक पूर्व निवासी, जो इराक में रह रहे अपने परिवार से संपर्क में है, ने फॉक्सन्यूज को बताया कि उन्हें समूह में गोलाकार बना कर खड़ा कर दिया गया और जला दिया गया।

कई अन्य इराकी जिनके रिश्तेदार मोसुल में रहते हैं, ने बताया कि आईएसआईएस के परास्त उग्रवादियों को सजा दी जा रही थी और उन्हें जलाया जा रहा था कि मरने तक उन्होंने रमादी में अपनी लड़ाई क्यों जारी नहीं रखी।

और पढ़े -   कनाडाई प्रधानमंत्री ने सयुंक्त राष्ट्र के संबोधन में अपनी ही खामियों का किया खुलासा

आतंकवाद विशेषज्ञ माइकल प्रिजेंट ने कहा, ‘रमादी से भागे आईएसआईएस के लड़ाकों को इस तरह सजा दिए जाने में आश्चर्य की कोई बात नहीं है। तिक्रित के लड़ाकों के साथ भी आईएसआईएस ने ऐसा ही किया था।’

साभार http://www.amarujala.com/


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE