फिलिस्तीनी वकीलों और नागरिक समूहों ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (आईसीसी) से आग्रह किया कि वे पूर्व यरूशलेम और वेस्ट बैंक में इजराइल के कथित युद्ध अपराधों की जांच में तेजी लाये।

इस बारें में वकील गैलेस डिवर्स ने बताया कि दो साल के लम्बे वक्त के बावजूद भी ये जाँच प्रारंभिक अवस्था में है. 2014 की गर्मियों गाजा युद्ध और फिलिस्तीनी क्षेत्रों  में इजरायल के कब्जे के खिलाफ आरोपों का एक डोजियर पेश किया गया था.

और पढ़े -   ईरान में नाबालिग के बलात्कारी को मिली दिल दहला देने वाली सज़ा

ये डोजियर फिलीस्तीनी नागरिक समूहों, जिनमें डॉक्टर, किसान, मछुआरों और शिक्षकों की और आईसीसी को सीधे पेश किया गया था. जिसे फिलिस्तीनी क्षेत्रों के 30 से अधिक वकीलों द्वारा तैयार किया गया. हालांकि ये यह पहली बार है कि फिलीस्तीनी नागरिको ने आईसीसी से सीधे अपील की.

फिलिस्तीनी नागरिकों का कहना है कि “फिलीस्तीनी प्राधिकरण की राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी” की वजह उन्हें खुद अपील करना पड़ा. हालांकि आईसीसी के एक राज्य सदस्य के रूप में फिलीस्तीनी प्राधिकरण अपनी तरफ से आधिकारिक शिकायत दर्ज करा सकता था.

और पढ़े -   कुर्दिस्तान के जनमत संग्रह के खिलाफ एक हुए ईरान, इराक़ और तुर्की

जनवरी 2015 में, ट्रिब्यूनल ने सभी पक्षों के कथित आरोपों की जांच शरू की और 2016 में एक आईसीसी प्रतिनिधिमंडल ने इजरायल और वेस्ट बैंक का दौरा किया. लेकिन फिलिस्तीनी कार्यकर्ताओं ने बुधवार को  बताया कि इस जांच को रोक दिया गया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE