obama

अमेरिका में दुनिया भर के राजनेताओं सहित कलाकारों, खिलाडियों आदि को सुरक्षा जांच के नाम पर अपमानित किया गया. भारत की कई सेलिब्रिटीज को सुरक्षा जांच के नाम पर अपमान के घूंट पीने पड़े. लेकिन उसी सुरक्षा जांच का हवाला देकर चीन ने अपना काम किया तो अमेरिका बौखला उठा हैं.

दरअसल अमेरिकी प्रेसिडेंट बराक ओबामा के यहां जी-20 समिट में हिस्सा लेने के लिए चीन पहुंचे. इस दौरान चीनी सुरक्षा अधिकारियों ने शहर हंगझाओ के एयरपोर्ट पर एयरफोर्स वन उतरते ही अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुसन राइस और व्हाइट हाउस के प्रेस कोर्प को सुरक्षा जांच में कोई छूट नहीं दी साथ ही उनको ये भी एहसास दिलाया की यह अमेरिका नहीं बल्कि चीन हैं.

हमेशा की तरह ओबामा एयरफोर्स वन से उतरते ही पत्रकारों को बोइंग 747 के पंखों के नीचे लाया गया, ताकि वे राष्ट्रपति को विमान की सीढ़ियों से नीचे आते हुए देख सकें और तस्वीरें ले सकें, लेकिन चीनी सुरक्षा अधिकारियों ने एक नीले रंग की रस्सी से उन्हें पीछे कर दिया. व्हाइट हाउस की एक महिला अधिकारी ने तैनात चीनी सुरक्षा अधिकारी से कहा कि यह अमेरिकी विमान है और अमेरिकी राष्ट्रपति हैं. बस फिर क्या था सुरक्षा अधिकारी बिफर पड़ा. वह अंग्रेजी में चिल्लाया, ‘यह हमारा देश है’, ‘यह हमारा एयरपोर्ट है.

इस हादसे को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा कहा कि अमेरिकी और चीनी अधिकारियों के बीच मीडिया के प्रवेश को लेकर टरमक पर हुई कहासुनी ने मानवाधिकारों और प्रेस की आजादी पर मतभेदों को उजागर किया है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें