इजरायल में सक्रिय मानवाधिकार संगठनों ने एक रिपोर्ट जारी करते हुए बताया कि इजरायली जेलों में फिलिस्तीनी कैदियों के साथ अमानवीय व्यवहार अपनाया जाता है और उन्हें कड़ी यातनाएं दी जाती है जो मौत से भी कड़ी हैं।

Inhuman torture in Israeli prisons

रिपोर्ट के अनुसार, अस्कलान शहर में ‘शियकमा’ नामक जेल में गिरफ्तार हुए फिलिस्तीनी कैदियों के साथ अमानवीय व्यवहार रखा जाता है और उन्हें भिन्न भिन्न प्रकार की अमानवीय यातनाएं और शारीरिक एंव मांसिक कष्ट दी जाती है।

रिपोर्ट में बताया गया कि 2013 और 2014 में शियकमा जेल के कैदियों के बयान दर्ज करने के लिए गए थे जिनमें कैदियों का कहना था कि हिरासत के दौरान इजरायली खुफिया एजेंसियों के लोग उन्हें यातनाएं देते और हिंसा एंव उन्हें तकलीफ पहुंचाने के सभी उपाय उपयोग करते हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि ताजा रिपोर्टों से पता चला है कि शियकमा जेल में फिलिस्तीनी कैदियों पर अभी भी अतीत की तरह उत्पीड़न का सिलसिला जारी है। शियकमा में गिरफ्तार फिलिस्तीनी नागरिकों को मानसिक, मनोवैज्ञानिक, शारीरिक और यौन उत्पीड़न जैसे घृणित रणनीति का सामना है। गर्मी, सर्दी, भोजन की कमी, तंग, बदबूदार अंधेरी कोठरियां और कई कई महीनों तक एकान्त कारावास से इस जेल में कैद फिलिस्तीनियों की मामूली यातनाएं हैं। (hindkhabar)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें