इंडोनेशिया ने रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए अब तक की सबसे बड़ी मानवीय सहायता भेजी है. इंडोनेशिया ने चार विमानों के साथ 34 टन की मानवीय सहायता भेजी है.

बुधवार को विमान के प्रस्थान की अनुमति देने के साथ ही इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको “जोकोई” विदोडो ने कहा, “अल्लाह का शुक्र है, हम बांग्लादेश-म्यांमार सीमा पर रह रहे राखिने राज्य से शरणार्थियों के लिए मानवतावादी सहायता का पहला चरण प्रेषित करने में सक्षम हुए.

और पढ़े -   अब्बास ने स्वतंत्र फिलिस्तीन के गठन की समयरेखा निर्धारित करने के उठाई मांग

जोकोई ने कहा कि चार हरक्यूलिस प्रकार के विमान में चावल, तैयार भोजन, परिवार के किट, तंबू और कंबल आदि बेह्जे गए। जो शरणार्थियों के लिए सबसे जरूरी चीजें हैं.

उन्होंने कहा कि यह विमान बांग्लादेश के चटगांव, पहुंचेंगे और 170 किलोमीटर (105 मील) यात्रा करके कोंक्स बाजार में स्थित रोहिंगिया शरणार्थी शिविर में ये मदद पहुंचाई जायेगी.

जोकोई ने बताया, इस सहायता का वितरण स्थानीय अधिकारियों के साथ सहयोग से इंडोनेशिया की मानवीय दल द्वारा आयोजित किया जाएगा. जोकोई ने कहा कि सहायता के दूसरे चरण में अगले सप्ताह म्यांमार में मदद भेजी जाएगी.

और पढ़े -   यमन, रोहिंग्या सहित कई मुद्दों पर ईरानी राष्ट्रपति का संयुक्त राष्ट्र महासभा बैठक में विमर्श

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE