इस्लाम धर्म का अपमान करने को लेकर राजधानी जकार्ता के राज्यपाल बासुकी पुरनामा को 2 साल की जेल की सजा सुनाई गई है.

ईसाई समुदाय से ताल्लुक रखने वाले राज्यपाल बासुकी पुरनामा का एक कथित विडियो सितम्बर में वायरल हुआ था जिसमे उन्होंने कहा था कि कुरान मुस्लिमों पर एक गैरमुस्लिम को नेता चुनने पर प्रतिबंध लगाता हैं. राज्यपाल के इस बयान के बाद दुनिया के सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देश की मॉडरेट इस्लाम की छवि को नुक्सान पहुंचा था.

और पढ़े -   मंसूर हादी यमन युद्ध के लंबा खिचने का मुख्य कारणः अमीराती राजदूत

इसी आरोप को लेकर उनके खिलाफ दिसंबर में मुकदमा शुरू किया गया था. गवर्नर के इस वीडियो के सामने आने के बाद पुरे देश में प्रदर्शन शुरू हो गए थे. प्रदर्शन में कुछ लोगों की मौत भी हुई थी.

यह फैसला अहोक के जकार्ता के गर्वनर के रूप में फिर से चुने जाने में नाकाम रहने के बाद आया है. गवर्नर पद के चुनाव में अहोक को पूर्व शिक्षा और संस्कृति मंत्री अनीज बसवेदान ने शिकस्त दी थी.

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE