Sartaj-Aziz

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने भारत-पाक के बिगड़ते हुए रिश्तों को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के रहते भारत के साथ संबंधों में किसी सफलता की उम्मीद नहीं है.

अजीज ने शुक्रवार को कहा कि क्षेत्र में भारत के आधिपत्यवादी रुख का पाकिस्तान विरोध करता रहा है और बराबरी के आधार पर द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने की मांग करता रहा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की संसद ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया है, जिसमें कश्मीर में बर्बरता की निंदा, भारत द्वारा नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन, भारत द्वारा कश्मीर को अभिन्न अंग मानने को नकारना, सिंधु जल समझौते को रद्द करने की भारत की धमकी की निंदा तथा बलूचिस्तान में भारत के हस्तक्षेप जैसे मुद्दे शामिल हैं.

अजीज ने आगे कहा कि दुनियाभर में विभिन्न मंचों पर संवाद के दौरान बहुमत ने देखा कि दोनों देशों के बीच बातचीत बहाल होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान-भारत सीमा को सील करने में कोई नुकसान नहीं है, अगर लोगों की आवाजाही और व्यापार द्वारों को कायम रखा जाता है. भारत पाकिस्तान के साथ सीमा को सील करने की योजना बना रहा है.

अजीज ने आरोप लगाया कि कश्मीर हिंसा से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए भारत ने उरी में खुद ही हमला कराया, लेकिन इससे कश्मीर में हुई बर्बरता को छिपाया नहीं जा सकता.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें