पेशावर। गर्लफ्रेंड से मिलने पाकिस्तान पहुंचना भारतीय इंजीनियर हामिद नेहल अंसारी (31) को भारी पड़ गया। पाकिस्तान की मिलिट्री अदालत ने जासूसी के मामले में 3 वर्ष की जेल की सजा सुनाई है।

नेहल सोशल मीडिया के जरिए बनी अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने 2012 में अफगानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा था। एक खाप ने लडक़ी की जबर्दस्ती शादी करने का फरमान सुनाया था। उसे बचाने ही नेहल पाकिस्तान गया था।

गर्लफ्रेंड से मिलने '' PAKISTAN'' पहुंचा भारतीय इंजीनियर, 3 वर्ष की जेल

नेहल की मां ने तमाम मशक्कत के बाद उसका पता लगाया। उसके पाकिस्तान में होने का पता लगते ही वहां अदालत में पिटीशन भी लगाई थी। तब पुलिस ने बताया था कि वह आर्मी के कब्जे में है। फिलहाल पाकिस्तान के आर्मी एक्ट के तहत नेहल को अपील करने का हक है।

नेहल का परिवार मुंबई के वरसोवा में रहता है। नेहल को रविवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कोहट में सजा सुनाई गई। जेल प्रवक्ता के अनुसार उसे पेशावर सेंट्रल जेल में रखा गया है। भारत ने पाक से मांग की थी कि डिप्लोमैट्स को नेहल से मिलने दिया जाए।

साथ ही, उसकी सुरक्षा की मांग की थी।  ‘डॉन’ अखबार के अनुसार इंजीनियरिंग के बाद एमबीए तक पढ़ाई कर चुके अंसारी ने कबूल कर लिया है कि वह पाकिस्तान में जासूसी करने आया था।

नेहल की मां ने कहा, ‘मेरा बेटा प्यार में पाकिस्तान में गया है। अगर वे जासूस होता तो फेसबुक पर पाकिस्तान के लोगों को दोस्त क्यों बनाता और वहां जाने के लिए ऑफिशियली वीजा क्यों मांगता? हमें दोनों देशों की सरकारों पर भरोसा है। हमने पाकिस्तान के आर्मी चीफ राहिल शरीफ और पीएम नवाज शरीफ से गुहार लगाई है कि वे नेहल की सजा को माफ कराएं। (samacharjagat)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें