conv

क्लिवलैंड में रिपब्लिकन पार्टी के सम्मेलन में भारत को अमेरिका का भूराजनीतिक सहयोगी बताते हुए रिपब्लिकन मंच ने भारत से अपील करते हुए कहा कि वह अपने धार्मिक समुदायों को हिंसा और भेदभाव से बचाए। 58 पन्नों के मेनिफेस्टो में रिपब्लिकन पार्टी ने भारतीय मूल के नागरिकों की ओर से अमेरिका के प्रति किए गए योगदानों का उल्लेख करते हुए इसमें कहा गया, हम भारत के सभी धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों के लिए हिंसा एवं भेदभाव के खिलाफ सुरक्षा की अपील करते हैं।

और पढ़े -   फ़्रांसीसी राष्ट्रपति ने की मुस्लिमों की तारीफ़, कहा - आतंक के खिलाफ निभाई सराहनीय भूमिका

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, रिपब्लिकन पार्टी ने कहा है कि भारत, अमेरिका का एक राजनीतिक सहयोगी है। भारत की तरफ से अमेरिका के लिए किए गए सहयोग को चुनावी घोषणा पत्र में बताया है और रिपब्लिक मंच से भारत सरकार से अपील की है कि ‘हम भारत के धार्मिक समुदायों को हिंसा और भेदभाव के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करेंगे। इस घोषणा पत्र में संबंधों को मजबूती देने के लिए सांस्कृतिक, आर्थिक और राष्ट्रीय सुरक्षा की भी बात कही है।

और पढ़े -   नाकेबंदी और प्रतिबंधों से नहीं हुआ हमारा कोई नुकसान: क़तर

रिपब्लिकन पार्टी ने भारत को अमेरिका का नजदीकी सहयोगी और रणनीतिक साझीदार बताया है जबकि पाकिस्तान को अपने परमाणु हथियारों की रक्षा पर ध्यान देने के लिए कहा है। पार्टी ने भारत सरकार से आग्रह किया है कि वह अपने यहां रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को हिसा और भेदभाव से बचाए।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE