84 mea11 5

ट्रंप प्रशासन की और से यरुशलम को इज़राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता दिये जाने को भारत सरकार ने खारिज कर दिया है. साथ ही कहा कि भारत फिलिस्तीन के सबंध में अपने पुराने रुख पर कायम है.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने जारी बयान में कहा अकि ‘फिलिस्तीन पर भारत का रुख़ स्वतंत्र और उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है. ये हमारे अपने हित और दृष्टिकोण पर निर्भर करता है और किसी तीसरे देश के कारण निर्धारित नहीं होता.’

ध्यान रहे ट्रंप ने यरुशलम को इज़राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता देते हुए कहा कि आज हम अंत में स्पष्ट रूप से स्वीकार करते हैं: यह यरुशलम इजरायल की राजधानी है. यह एक वास्तविकता को पहचानने से ज्यादा और कम कुछ नहीं है. यह करना सही बात है. इसे करना ही चाहिए था.’ साथ ही उन्होंने विदेश मंत्रालय को तत्काल यरुशलम में अमेरिकी दूतावास बनाने के भी निर्देश दिए.

हालंकि डॉनल्ड ट्रंप के इस फैसले के बाद यूरोप और खाड़ी देशों में हलचल मच गई है. आठ देशों ने तत्काल बैठक बुलाई है. जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल और ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे ने इस फैसले का विरोध किया है. साथ ही सयुंक्त राष्ट्र ने भी आपात बैठक बुलाई है.

इसके अलावा तुर्की ने OIC के जरिए मुस्लिमों देशों की तत्काल बैठक बुलाई है. साथ ही ट्रम्प को इस फैसले को वापस लेने की चेतावनी दी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE