पनामा पेपर्स के लीक का असर शुरू हो गया है। इस खुलासे के बाद आइसलैंड के प्रधानमंत्री सिगमनदर डेविड गनलॉगसन ने इस्तीफा दे दिया है। गनलॉगसन ने राष्ट्रपति के सामने संसद को भंग करने का प्रस्ताव रखा था।

पनामा पेपर्स लीक में उन पर आरोप लगा था कि उन्होंने और उनकी पत्नी ने 2007 में एक विदेशी कंपनी बनाकर करोड़ों डॉलर का गैरकानूनी निवेश किया गया है। गनलॉगसन के इस्तीफे की मांग को लेकर संसद के बाहर लोगों ने प्रदर्शन किया था। गनलॉगसन ने विपक्ष द्वारा विश्वास मत की मांग करने पर राष्ट्रपति ग्रिमसन के सामने संसद को भंग करने का संसद को प्रस्ताव रखा और बाद में अपने पद से इस्तीफा दे दिया। (News24)

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE