ibt

रियो ओलंपिक में अमरीका का प्रतिनिधित्व कर रही अमरीका की पहली मुस्लिम महिला खिलाड़ी “इब्तेहाज मोहम्मद” ने अमरीका में बढ़ते नस्लवाद और रंगभेद के प्रति अमेरिकी सरकार के समर्थन पर नाराजगी जाहि की हैं.

“इब्तेहाज मोहम्मद” अमरीका की पहली हिजाब वाली मुस्लिम महिला खिलाड़ी हैं जो “रियो ओलंपिक” में भाग ले रही हैं. शनिवार को इतालवी समाचार एजेंसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि मुझे अमरीका में मौजूद नस्लवाद और रंगभेद जिसे सरकार का समर्थन प्राप्त है, उस पर बहुत अफ़सोस है.

और पढ़े -   यमन जा रहा तेजी से मौत के मुंह में, हैजा के अलावा दिमागी बुखार भी फैला

उन्होंने अमेरिका सहित दुनिया भर में हिजाब पहनने वाली मुस्लिम महिलाओं के साथ बड़ते  भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाते हुए कहा कि वह सिर्फ इस अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए ब्राज़ील नहीं आई हैं बल्कि उनका उद्देश्य अमरीका सहित दुनिया भर में हिजाब पहनने वाली महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाना है.

इब्तेहाज मोहम्मद का कहना था कि उन्होंने एक मुस्लिम महिला होने के नाते कभी अपनी पहचान नहीं छिपाई। याद रहे कि इब्तेहाज मोहम्मद ने कुछ समय पहले अपने एक बयान में कहा था कि वह पर्दे को अपने लिए स्वतंत्रता का प्रतीक और अपनी पहचान मानती हैं

और पढ़े -   सऊदी प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने कहा - यमन युद्ध से अब निकलना चाहते है बाहर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE