पाकिस्तानी प्रांत ख़ैबर पख्तूनख्वाह के चित्राल में कैलाश जनजाति की एक लड़की के धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबुल करने पर विवाद खड़ा हो गया. इसके बाद लड़की ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि उसने अपनी मर्ज़ी से इस्लाम क़बूल किया है. लड़की ने इस बात से मना किया हैं कि उस पर धर्म परिवर्तन के लिए कोई दबाव था.
लड़की ने कहा “मैं पढ़ी लिखी हूं. मैंने इस्लामी किताबों का अध्ययन किया और उससे प्रभावित होकर ही मैंने इस्लाम धर्म क़बूल किया है.” इस्लाम कबुल करने पर लड़की के चाचा ने कहा कि उन्हें रीना के मुसलमान बनने पर कोई आपत्ति नहीं है.
सामाजिक कार्यकर्ता लोकी राहत के अनुसार रीना ग़लती से इस्लाम स्वीकार कर मुसलमान हो गई हैं. कहा जा रहा हैं कि रीना के मुसलमान बनने के बाद एक महिला ने उन्हें दोबारा कैलाश धर्म अपनाने के लिए राज़ी कर लिया और उसे अपने घर में रखा.
गोरतलब रहें कि रीना के धर्म परिवर्तन करने पर कैलाश और मुस्लिम समुदायों के बीच कई दिनों से तनाव था. गुरुवार को दोनों पक्षों के बीच झड़प भी हुई जिसमें कई लोग घायल हो गए.
और पढ़े -   क़तर संकट: सऊदी और उसके सहयोगी देशों ने 13 में से 7 मांगों को किया खत्म

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE