hung

हंगरी के प्रधानमंत्री विक्टर ऑर्बन ने सीरिया से यूरोप की और जाने वालें शरणार्थियों को ‘जहर’ करार दिया हैं. उन्होंने कहा कि उनका देश ये जहर कभी नहीं निगलेगा.

बुडापेस्ट में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऑर्बन ऑस्ट्रियन ने कहा कि “हंगरी को इकॉनॉमी चलाने या अपनी पॉपुलेशन बढ़ाने के लिए एक भी माइग्रेंट की जरूरत नहीं है. जिस किसी को भी प्रवासियों की जरूरत हो, वो उन्हें रख ले. लेकिन उन्हें हमारे ऊपर दबाव न बनाएं. हमें उनकी जरूरत नहीं.

उन्होंने आगे कहा, “हमारे लिए माइग्रेशन समाधान नहीं बल्कि एक समस्या है. ये दवा नहीं ज़हर है. हमें इसकी जरूरत नहीं, हम इसे नहीं निगलेंगे.” ऑर्बन ने यूरोपियन यूनियन की उस योजना का मजबूती के साथ विरोध किया है. जिसमें 28 देशों के ब्लॉक में प्रवासियों को बांटने के लिए कोटा सिस्टम निर्धारित किया गया है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें