ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ईरानी नागरिकों के इस वर्ष हज पर न जाने के लिए सऊदी अरब को जिम्मेदार ठहराते हुवे कहा कि हज, मक्का और मदीना पर किसी एक की जागीर नहीं हैं. इन पर सभी मुसलमानों का अधिकार है. उन्होंने आगे कहा कि ईरानी हाजियों को रोक कर सऊदी अरब ज़ायोनी इस्राईल के हितों की पूर्ति कर रहा हैं.

रूहानी ने आगे कहा, दो पवित्र मस्जिदों के संरक्षक का दावा करने वालों ने अल्लाह के रास्तें और हज में रुकावट डालकर बचकाना क़दम उठाया है, यह वही लोग हैं जो क्षेत्र को अस्थिर कर रहे हैं और इस्राईल के हितों के लिए काम कर रहे हैं. ये लोग इलाक़े को अस्थिर करना चाहते हैं, वही ईरान में अशांति फैलाना चाहते हैं.

और पढ़े -   सीरिया संकट पर फ्रांस ने दिया सऊदी अरब को झटका - बश्शार असद को हटाना अब प्राथमिकता में नहीं

गोरतलब रहे कि सऊदी अधिकारी ने सुरक्षा व प्रतिष्ठा के साथ हज करने की ईरानी हाजियों की मांग को रद्द कर दिया जिसके कारण इस वर्ष ईरानी नागरिक हज यात्रा पर नहीं जा संकेगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE