map

अमेरिकी कंपनी गूगल ने अपने मैप एप्लिकेशन से फिलिस्तीन का नाम हटाकर इजराइल का लिख दिया. जिसके बाद दुनिया भर में गूगल की आलोचना की जा रही हैं.

फिलीस्तीन की प्रेस कौंसिल ने गूगल की आलोचना करते हुए कहा कि फिलीस्तीन को हमेशा के लिए मिटाने का षडयंत्र बताया हैं. जिसके तहत गूगल कंपनी ने जान बुझकर ऐसा किया हैं.

इस बारे में आगे कहा गया कि गूगल ने इस्राईल की योजना के अनुसार आने वाली पीढिय़ों को भ्रमित करने के उद्देश्य से एक वैध देश के रूप में अपने नाम की स्थापना करने के लिये ऐसा किया है.

और पढ़े -   एशिया में अमरीकी अपराध, फिलिपीन्स के सेक्स व्यापार में अमरीकी हिस्सेदारी

उनका यह यह क़दम, इतिहास और भूगोल को ग़लत तरीक़े से पेश करने के साथ ही साथ फ़िलीस्तीनियों की मातृभूमि की मांग के अभियान को कमज़ोर करने के लिये उठाया गया है.

फिलीस्तीन की प्रेस कौंसिल के अनुसार  ऐसा करने के बाद भी वे अपने षडयंत्रों में सफल नहीं हो पायेंगे. उन्होंने गूगल से इसमें बदलाव की मांग करने के साथ-साथ कहा कि यह काम अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के विपरीत है.

और पढ़े -   सऊदी अरब 1 जुलाई से लागू करेगा 'डिपेंडेंट टैक्स', विदेशी कामगारों को झेलनी होगी आर्थिक मार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE