वेटिकन सिटी। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के उस बयान की पोप ने आलोचना की है  जिसमें उन्होंने अमेरिका-मैक्सिको की सीमा पर एक दीवार बनाने की बात कही थी। पोप ने कहा कि ट्रंप हमेशा बांटने की बात करते हैं इसलिए वह ईसाई नहीं हो सकते।

अच्छा ईसाई कभी बांटने की बात नहीं करता: पोप फ्रांसिस

ट्रंप ने अमेरिका-मैक्सिको की सीमा पर एक दीवार बनाने की बात कही थी। इसी से जुड़े एक सवाल के जवाब में पोप ने ये बात कही। आव्रजन रोकने के लिए अमेरिकी-मेक्सिको सीमा पर एक दीवार बनाने के ट्रंप के बयान पर पोप ने यह कहते हुए अपनी नाराजगी जताई है। हालांकि पोप के बयान पर ट्रंप ने भी तल्ख प्रतिक्रिया दी।

पोप फ्रांसिस ने गुरुवार को मैक्सिको से एक हफ्ते बाद वेटिकन लौटने से पहले संवाददाताओं से कहा कि क्या कोई अच्छा कैथोलिक इस व्यक्ति को वोट देगा। विश्व में 1.2 अरब कैथोलिकों के धर्मगुरु पोप ने कहा कि यह हम लोगों पर छोड़ते हैं।

उन्होंने ट्रंप की तल्खी का जिक्र करते हुए कहा कि ईश्वर का धन्यवाद कि उसने मुझे नेता कहा है। चूंकि धर्म में इंसान को राजनीतिक जानवर बताया गया है। इस तरह कम से कम मैं एक इंसान तो हूं।

पोप के इस बयान पर दक्षिण कैलिफोर्निया चुनाव अभियान के लिए आए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि एक धर्मगुरु का लोगों की आस्था पर सवाल करना शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि उन्हें ईसाई होने का गर्व है। बतौर राष्ट्रपति वह ईसाइयत पर हमले नहीं होने देंगे और उसे कमजोर नहीं पडऩे देंगे।

ट्रंप ने अमेरिका में बिना कागज़ातों के रह रहे एक करोड़ दस लाख शरणार्थियों को भी देश से बाहर निकालने की बात कही है। पोप के बयान के बाद ट्रंप ने भी पलटवार करते हुए कहा, मैं एक सच्चा ईसाई हूं, पोप ने मैक्सिको की शह पर ऐसा शर्मनाक बयान दिया है। ट्रंप ने कहा, मैक्सिको, अपराधियों और बलात्कारियों को अमेरिका भेजता रहता है। (samacharjagat)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें