अपने रुतबे और घमंड के आगे किसी और को बर्दाश्त ना करने वाले विकसित देशों की नज़र में विकाशील देश अभी किरकिरी सरीखे है. जिसका जीता जागता उदहारण जर्मनी में देखने को मिला. गौरतलब है की पीएम मोदी पिछले दिनों से विदेश यात्रा पर है जहाँ उनका पहला पड़ाव जर्मनी है.

इसी दौरान मोदी ने जर्मनी की चांसलर एंजेल मर्केल से मुलाकात की हालाँकि दोनों की मुलाकात तो काफी गर्म जोशी से हुई लेकिन दुसरे देश के प्रधानमंत्री को नीचा दिखाने की हरकत जानबूझकर की गयी जहाँ पीएम मोदी ने अपनी तरफ आ रही एंजेल की तरफ गर्मजोशी से हाथ बढ़ाया वहीँ एंजेल मर्केल ने उसे नज़रंदाज़ करते हुए आगे बढ़ गयी, हालाँकि उन्हें अपनी गलती का तुरंत अहसास भी हो गया और हाथ आगे लिए खड़े पीएम मोदी से फिर पलटकर वापस हाथ मिलाया.

और पढ़े -   अमेरिका और ब्रिटेन ने सीरिया में आतंकियों को दिए ज़हरीले बमः रूस

ऐसा पहली बार नही है जब एंजेल मर्केल ने पीएम मोदी के साथ ऐसा किया है इससे पहले 2015 में भी वो इग्नोर करके आगे चली गयी थी. पीएम मोदी ने बर्लिन में चांसलर मर्कल के साथ बातचीत की तस्वीरें भी ट्विटर पर साझा की। पीएम मोदी ने लिखा की चांसलर मर्केल के साथ अच्छी बातचीत हुई। लेकिन भारत के लोगों के बीच मंगलवार (30 मई) को चर्चा इस बात को लेकर हुई कि क्या जर्मनी की चांसलर एंजेल मर्केल पीएम मोदी को संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इग्नोर कर रही थीं।

और पढ़े -   मंसूर हादी यमन युद्ध के लंबा खिचने का मुख्य कारणः अमीराती राजदूत

क्योंकि जब पीएम मोदी ने अपना हाथ आगे बढ़ाया तो मर्कल उनसे बिना हाथ मिलाये आगे चली गईं। इससे पहले 2015 में भी ऐसा ही वाकया दोनों नेताओं के बीच हो चुका है।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE