यमन की तरह सीरिया में अपनी कठपुतली सरकार के गठन को लेकर पिछले पांच सालों से युद्ध लड़ रहे सऊदी अरब को फ्रांस की और से बड़ा झटका लगा है. दरअसल फ़्रान्स के एजेंडा में अब राष्ट्रपति बश्शार असद को हटाना नहीं है.

फ़्रान्स के राष्ट्रपति ने इमेनोएल मैक्रोन ने कहा है कि सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद को सत्ता से हटाना अब कोई पूर्व शर्त नहीं रह गई है क्योंकि कोई भी उनका क़ानूनी विकल्प नहीं बन सकता.

और पढ़े -   मुस्लिम विरोधी सांसद ने ऑस्ट्रेलियाई संसद में बुर्का पहनकर मचाया हंगामा

उन्होंने कहा कि आतंकवादियों से संघर्ष से अधिक प्रभावी कोई भी चीज़ नहीं है और इस मामले में सभी पक्षों विशेष कर रूस का सहयोग ज़रूरी है. फ़्रान्स के राष्ट्रपति ने सीरिया को विगठित होने से रोकने को अपनी एक अन्य प्राथमिकता बताया और कहा कि सीरिया संकट के लिए राजनैतिक व कूटनैतिक रोड मैप खोजा जाना चाहिए.

गौरतलब रहें कि  हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ में अमरीका की प्रतिनिधि निकी हेली ने भी कहा था कि बश्शार असद को सत्ता से हटाना, अब सीरिया में अमरीका की प्राथमिकता नहीं है.

और पढ़े -   आईएसआईएस के मुक़ाबले हिज़बुल्लाह की निरंतर सफलताओं से इस्राईल में मचा हड़कंप

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE