मॉस्को। अमेरिकी खुफिया एजेंसी के पूर्व अधिकारी एडवर्ड स्नोडेन ने यह कह कर सनसनी मचा दी है कि खूंखार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन की मौत नहीं हुई है। वह अमेरिका में अभी भी जिंदा है। उसे अमेरिकी सरकार ने सुरक्षित रखा हुआ है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि उसे कहां रखा गया है।

विदित हो कि एडवर्ड स्नोडेन अभी रूस में रह रहे हैं। इन्होंने ने ही यह बताया था कि किस तरह सीआइए दुनियाभर में जासूसी करती है। इस घटना के बाद अमेरिका में वे वांछित अपराधी हैं, लेकिन उन्हें रूस ने शरण दे रखा है।
स्नोडेन ने दावा किया है कि इस बात के उनके पास सुबूत हैं। ओसामा को सीआइए ने बहामास में छुपा कर रखा हुआ है और साथ ही उसे हर माह एक लाख डॉलर दिया जाता है। वह पेरोल पर है।

इस संबंध में रूस के बड़े अखबार ‘मॉस्को ट्रिब्यून’ ने स्नोडेन के हवाले से छापा है कि ओसामा को अमेरिका ने मारा नहीं था। क्योंकि, कभी भी उसकी लाश सामने नहीं आ सकी थी। बाद में अमेरिका ने कहा था कि उसकी लाश को समुद्र में दफना दिया गया। अमेरिकी नेवी सील कमांडोज की कारर्वाई में ओसामा को मारने की बात कही गई थी।
स्नोडेन ने कहा कि अमेरिकी सरकार उसे हर माह एक लाख डॉलर देती है, जो नसाऊ के एक बैंक खाते में हर महीने जमा किया जाता है। मैं यह नहीं बता सकता कि वह बहामास में कहा है, लेकिन अभी उसे वहीं रखा गया है।

विदित हो कि पाकिस्तान के एबटाबाद में वह एक घर में अपने बच्चों और पांच पत्नियों के साथ रह रहा था। इस संबंध में स्नोडेन ने कहा है कि उसे पूरे परिवार के साथ बहामास भेजा गया है, जहां वह बिना दाढ़ी और मिलिट्री जैकेट के रहता है। अमेरिका ने यह पूरा खेल पाकिस्तान के साथ मिल कर किया है।

स्नोडेन के मुताबिक लादेन सीआइए का ही एजेंट था। ऐसे में अमेरिका उसे कभी मार ही नहीं सकता है। साथ ही उसको मार देने से सीआइए का पूरा नेटवर्क ही गड़बड़ हो जाता। स्नोडेन 2013 में अमेरिका से रूस भाग गये थे। (eenaduindia)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें