म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों का बेदर्दी के साथ कत्लेआम जारी है. म्यांमार सेना और बौध्द आतंकी मिलकर मुस्लिमों का जनसंहार कर रहे है.

मुस्लिम बहुल राखिने प्रान्त में पिछले दो हफ़्तों से लगातार ये सिलसिला जारी है. अब तक 400 से ज्यादा रोहिंग्या मुस्लिम मारे जा चुके है तो वहीँ लाखों की संख्या में रोहिंग्या पलायन कर चुके है.

रोहिंग्या मुस्लिमों के कत्लेआम के पीछे एक बुद्धिष्ट धर्मगुरु का हाथ है जिसका नाम अशीन विराथू है. जो म्यांमार के एक राजनितिक चेहरा भी है. सितंबर 2012 से रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा भडकाने में प्रमुख रूप से इसी का ही हाथ रहा है.

ये धर्मांध मुसलमानों के खिलाफ हमेशा ज़हर उगलता है. और इस को सरकारी संरक्षण हासिल है इसका खुलासा अमेरिकन मैगज़न न्यूयॉर्क टाइम्स ने किया था और इसके साथ उसने ये हैडिंग दी थी “फेस ऑफ़ बुद्धिस्ट टेरर” और उसके कवर पेज पर विराथू की तस्वीर छपी हुई थी.

विरथु ने बौद्धों को मुस्लिमों के खिलाफ भडकाया. उसने अपने बयानों में कहा, यदि हम कमजोर हुए तो हमारी भूमि मुस्लिम हो जाएगी. इसके लिए उसने इंडोनेशिया में इस्लाम के प्रसार का उदाहरण दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE