क़तर संकट को हल करने के उद्देश्य से तुर्की के राष्ट्रपति ने रजब तैयब एर्दोगान रविवार को सऊदी अरब की यात्रा के बाद कुवैत पहुंचे.

एर्दोगान सऊदी अरब में राजा सलमान बिनअब्दुल अजीज अल सऊद और क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद के साथ अलग बैठक के बाद कुवैत पहुंचे है. गौरतलब रहें कि कुवैत इस पुरे संकट में सबसे प्रमुख मध्यस्थ के रूप में काम कर रहा है.

और पढ़े -   तुर्की के विदेश मंत्री ने घाना के एक गरीब देहाती को भेजा हज पर

इस दौरान एर्दोगान ने एक घंटे तक डार सल्वा पैलेस में कुवैती अमीर शेख सबा अल अहमद अल-सबा के साथ बैठक की. एर्दोगान के साथ एक उच्च प्रतिनिधि प्रतिनिधिमंडल है जिसमें तुर्की विदेश मंत्री, आर्थिक मंत्री, ऊर्जा और प्राकृतिक संसाधन मंत्री, रक्षा मंत्री, और राष्ट्रीय खुफिया संगठन (एमआईटी) के प्रमुख शामिल है.

ये यात्रा चार अरब राज्यों – सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र द्वारा कतर के साथ कूटनीतिक संबंधों को खत्म कर प्रतिबंध लगाने के बाद की जा रही है. दरअसल तुर्की राष्ट्रपति ने घोषणा की है कि वे इस संकट का समाधान निकाल कर ही दम लेंगे.

और पढ़े -   यमन युद्ध में मरने वाले 50 प्रतिशत बच्चे सऊदी हमलों में मरे: सयुंक्त राष्ट्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE