तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान कतर और चार अन्य अरब देशों के बीच विवाद को हल करने में मदद करने के प्रयास से खाड़ी देशों की अपनी दो दिवसीय यात्रा के तहत सऊदी अरब पहुँच चुके है.

रविवार को जेद्दा में उन्होंने राजा सलमान और क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान के साथ मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने मुस्लिम एकता और मजबूत व्यापार संबंधों की आवश्यकता का हवाला देते हुए, सऊदी अरब से संकट के अंत की अपील की है.

और पढ़े -   गाजा पट्टी की बिजली आपूर्ति और रफा क्रॉसिंग की दुबारा खुलने की संभावना

अब वे कुवैत की यात्रा करेंगे. याद रहे कुवैत इस पुरे संकट में मुख्य मध्यस्थ की भूमिका निभा रहा है. शुक्रवार को नमाज के बाद कहा कि हम क्षेत्र के भाई देशों के बीच विवाद के समाधान के अंत तक काम करेंगे.

उन्होंने कहा, राजनीतिक समस्याएं अस्थायी होती हैं, जबकि आर्थिक संबंध स्थायी हैं, और मुझे उम्मीद है कि खाड़ी देशों के निवेशकों ने दीर्घकालिक संबंधों का चयन किया.” ध्यान रहे सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र के द्वारा सबंध तोड़े जाने के बाद तुर्की कतर के साथ मजबूती से खड़ा हुआ है.

और पढ़े -   शाह सलमान ने कत्तरी हाजियों के लिए सलवा बॉर्डर को खोलने का दिया आदेश

एर्दोगान की ये यात्रा सऊदी गुट की और से 13 मांगों की जारी की गई सूची में क़तर में नए खुले तुर्की सैन्य अड्डे को बंद करने की मांग के बावजूद की जा रही है. जिससे वे पहले ही अवैध बता चुके हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE