दोहा स्थित अल शार्क अख़बार ने कथित तौर पर दावा किया है कि क़तर के नागरिकों को मक्का में ग्रैंड मस्जिद में प्रवेश करने से रोका जा रहा है.

कतर के राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने कतरी नागरिकों से शिकायतें प्राप्त कीं है कि कतर के जायरीनों को मक्का में मस्जिद अल-हरम में प्रवेश करने से रोक दिया गया.

एनएचआरसी के प्रमुख अली बिन अल-मैरी ने ह्यूमन राईट कन्वेंशन के अनुसार इसे धार्मिक संस्कारों के अभ्यास के अधिकार का एक बड़ा उल्लंघन बताया. साथ ही एनएचआरसी ने इस घटना की कड़ी निंदा की.

और पढ़े -   अमेरिकी राष्ट्रपति ने सयुंक्त राष्ट्र से रोहिंग्या के लिए 'मजबूत और तेज' कार्रवाई का आग्रह किया

गौरतलब रहें कि ग्रैंड मस्जिद में प्रवेश करने वाले लोगों को अपनी जातीयता या सांप्रदायिक संबद्धता पर आज तक सवाल नहीं किया गया है. ऐसा पहली बार हुआ है कि मस्जिद में जाने से सिर्फ इसलिए रोका जा रहा है कि वह क़तर का नागरिक है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE