ईरान में राष्ट्रपति चुनाव ने दुनिया की मीडिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रखा है, और दुनिया के बहुत से समाचार पत्रों की टाइमलाइन में यह रह चल रहा है और दुनिया के कई अख़बार इसको प्रमुखता से कवरेज दे रहे हैं।

लेकिन खेद यह है कि यह मीडिया चुनाव के सभी कोणों को नहीं दिखाता है, शायद इसलिए कि यह एक ऐसे देश की राजनीतिक ख़बर हैं जो इस क्षेत्र में प्रभावी है, और यही कारण है कि इन चुनावों के सांस्कृतिक और लोकतांत्रिक पहलू को नहीं दिखाया जाता है।

इस लेख में हम ईरान के चुनाव पर प्रकाश डालेंगे निर्णय पढ़ने वालों पर छोड़ दिया जाएगा।

और पढ़े -   मुस्लिम विरोधी सांसद ने ऑस्ट्रेलियाई संसद में बुर्का पहनकर मचाया हंगामा

ईरान में चुनाव की एक महत्वपूर्ण बात यह है कि यहां उम्मीदवारों के बीच लाइव डिबेट होती है ताकि वे अपनी परियोजनाएं ईरानी मतदाताओं के सामने रख सकें।

डिबेट, एक मंच है जहां उम्मीदवार अपनी परियोजना बताने के अलावा, अन्य उम्मीदवारों पर आपत्ति कर सकते हैं। राष्ट्रपति पद के हर उम्मीदवार के लिए यह डिबेट एक चुनौती है।

ईरान में चुनाव आयोग ने जनता की सुविधा के लिए चुनाव से पहले तीन शुक्रवार इन डिबेट के लिए आरक्षित किए हैं जिनके विषय सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक हैं।

डिबेट की कार्यशैली कुछ इस प्रकार की है कि जब सभी उम्मीदवार टीवी चैनल पर आ जाते हैं तो ड्रॉ से उनकी सीट और बोलने का नंबर निर्धारित किया जाता है।

और पढ़े -   सवा लाख अवैध हाजियों को मक्का से वापस भेजा गया

इसके बाद फिर से एक ड्रा किया जाता है जिसमें हर उम्मीदवार के लिए एक प्रश्न निकाला जाता है और उम्मीदवार उस प्रश्न का उत्तर देता है, ड्रॉ से चुने जाने प्रश्नों के बारे में उम्मीदवारों को पहले से नहीं बताया जाता है, बल्कि उनको उसी समय अपने सामने आने वाले प्रश्न का उत्तर देना होता है जिस कारण वह अपने उत्तर पहले से निर्धारित नहीं कर सकते हैं।

ड्रॉ के बाद प्रत्येक उम्मीदवार 4 मिनट में होने वाले प्रश्न का उत्तर देता है उसके दूसरे उम्मीदवार 2 मिनट के अंदर उस उम्मीदवार पर आपत्ति और टिप्पणी कर सकते है, और अंत में फिर वह उम्मीदवार 5 मिनट में उम्मीदवारों की तरफ़ से होने वाले प्रश्नों का उत्तर देता है।

और पढ़े -   गाजा पट्टी की बिजली आपूर्ति और रफा क्रॉसिंग की दुबारा खुलने की संभावना

पहले चरण में सबसे उम्मीदवार इसी तरह सवाल करते हैं, और उसके बाद फिर ड्रा के माध्यम से प्रत्येक उम्मीदवार से सवाल किया है जिसका उन्हे 2 मिनट में जवाब देना होता है।

अंत में जिन उम्मीदवारों ने अपने निर्धारित समय से कम टाइम लिया होता है उन्हें मौका दिया जाता है कि अपने समय का पूरा उपयोग करना, ताकि न्याय स्थापित की जा सके और किसी के अधिकारों का उल्लंघन न हो।।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE