obama

गुरुवार को व्हाइट हाउस में आयोजित एक ईद समारोह में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि व्हाइट हाउस में ईद का जश्न इस बात का एक  प्रमाण है कि मुस्लिम हमेशा से अमेरिका का हिस्सा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि “सभी अमेरिकियों की तरह, आप आतंकवाद के खतरे से चिंतित हैं… लेकिन इससे भी ऊपर आपको एक डर है कि कुछ ऐसे लोगों के हिंसक कृत्यों के लिए आपके पूरे समुदाय को दोष दिया जाएगा, जो आपके धर्म का प्रतिनिधित्व नहीं करते…”

और पढ़े -   लंदन मस्जिद हमलें पर ईसाई महिला ने इमाम से मांगी माफ़ी, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

ओबामा ने रिपब्लिकन नेताओं की आलोचना करते हुए कहा कि “मुस्लिम अमेरिकियों को अलग-थलग करना आईएसआईएल के उसी झूठ को पोषित करना है, जो कहता है कि पश्चिम एक ऐसे धर्म के साथ युद्धरत है, जिसके एक अरब से ज्यादा अनुयायी हैं… यह अच्छी राष्ट्रीय सुरक्षा नहीं है…” ओबामा ने कहा, “दरअसल आईएसआईएस और अलकायदा जैसे संगठन मुस्लिम समुदायों के साथ युद्धरत हैं, पवित्र माह (रमजान) में भी…”

और पढ़े -   कतर संकट को सुलझाने के लिए हमारी प्राथमिकता कूटनीति: संयुक्त अरब अमीरात

ओबामा ने कहा, ”और मुस्लिम अमेरिकियों के साथ भेदभाव करना उन मूल्यों का भी अपमान है, जो हमारे देश को महान बनाते हैं…” उन्होंने कहा, ”मुस्लिम अमेरिकी उतने ही देशभक्त, ईमानदार और अमेरिकी हैं, जितना कि अमेरिकी परिवार का कोई अन्य सदस्य है… और फिर चाहे आपका परिवार कई पीढ़ियों से यहां रहा हो या फिर आप यहां नए आए हों, आप हमारे देश के ताने-बाने का एक अहम हिस्सा हैं…” ओबामा ने कहा कि मुस्लिम अमेरिकियों को घृणा को नकारना ही होगा

और पढ़े -   चीन ने दिया भारत को झटका - मानसरोवर यात्रा रोकी, तनाव के बाद रास्ता भी किया बंद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE