moorsi

मिस्र की एक अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति मुहम्मद मुर्सी की फांसी को रद्द कर दिया हैं. मंगलवार को अदालत ने दिए अपने आदेश में ब्रदरहुड के नेता मुहम्मद मुर्सी की फांसी की सजा रद्द करने के अलावा उनके विरूद्ध मामले की फिर से सुनवाई करने का आदेश दिया हैं.

अप्रैल 2015 में अदालत ने दिसंबर 2012 में राष्ट्रपति भवन के बाहर धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा भड़काने के जुर्म में मुर्सी को मौत की सजा का फैसला दिया था. इस घटना में एक पत्रकार सहित दस लोगों की मौत हो गई थी.

और पढ़े -   लंदन में हुए नमाजियों पर आतंकी हमले को पीएम टेरीजा ने बताया भयावह

साल 2011 के विद्रोह के बाद मुर्सी पहले लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित राष्ट्रपति थे जिन्हें साल 2013 में वर्तमान राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सीसी के नेतृत्व में हुए तख्तापलट में बर्खास्त कर दिया गया था. तख्तापलट के तुरंत बाद मुर्सी को गिरफ्तार कर लिया गया था और जासूसी के दो चर्चित मामलों समेत कई आरोपों में लंबी जेल की सजा सुनाई गई थी.

और पढ़े -   पीएम मोदी के योग के चलते बारिश में भीगने के कारण कई बच्चें हुए बीमार

अदालत के आदेश के अनुसार प्रतिबंधित मुस्लिम ब्रदरहुड संगठन के पांच नेताओं के साथ मुर्सी पर नए सिरे से मुकदमा चलेगा और इस मामले में इन सभी की फांसी की सजा को रद्द कर दिया गया हैं .


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE