लंदन। इंग्लैंड में एक चौंकाने वाला सर्वे सामने आया है। जिसमें ब्रिटिश मुस्लिम युवाओं का बड़ा हिस्सा चाहता है कि इंग्लैंड में शरिया कानून लागू हो। ऐसे युवाओं की संख्या 23 फीसदी है। ये सर्वे आईसीएम पोल की तरह से कराया गया जिसे डॉक्यूमेंट्री के जरिए चैनल4 पर भी दिखाया गया। इस डॉक्यूमेंट्री का नाम ‘वॉट ब्रिटिश मुस्लिम्स रियली थिंक’ था।

ब्रिटिश मुस्लिम युवा चाहते हैं देश में शरिया कानून!

इस सर्वे को करने वाले टीम की अगुवई ट्रेवर फिलिप ने की, जो मानवाधिकार आयोग के मुखिया रह चुके हैं। इस सर्वे के सामने आने के बाद देश में नई बहस शुरू हो गई है। इस सर्वे में 1801 युवक शामिल हुए। उसने महिलाओं की स्थिति, शारीरिक संबंधों, देश की स्थिति और सामाजिक परिस्थितियों पर आधारित सवाल पूछे गए। इस सर्वे में होमोसेक्सुअली पर पूछे गए सवाल के जवाब में 52 फीसदी मुस्लिम ब्रिटिश युवकों ने कहा कि ब्रिटेन में होमोसेक्सुअली को मान्यता मिलनी चाहिए।

इसी सर्वे में 31 फीसदी युवकों ने एक से अधिक शादियों को जायज ठहराया। इस सर्वे में सामाजिक जीवन पर जो सवाल पूछे गए, उसमें पत्नी की स्थिति को भी साफ करने को कहा गया। इस सवाल के जवाब में 39 फीसदी ब्रिटिश मुस्लिम युवकों का कहना है कि पत्नी को सिर्फ पति की बात ही माननी चाहिए। इस सर्वे को करने वाले ट्रेवर फिलिप ने कहा कि अब जरूरत आ गई है, जब देश में मुस्लिमों को लेकर कुछ चर्चा हो। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश मुस्लिमों को समझना सबसे कठिन काम है। उन्होंने कहा कि ये ब्रिटेन को सोचना है कि उसके पास नादिया हुसैन हों या मोहम्मद फराह। इस सर्वे में 80 फीसदी युवकों ने कहा कि वो ब्रिटेन में रहकर खुश हैं। (khabar.ibnlive.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें