पूर्वी चीन सागर के उपर उड़ रहे अमेरिकी विमानों का रास्ता रोक उन्हें अपना रास्ता बदलने पर मजबूर कर दिया. जिसके बाद से ही अमेरिका चीन पर भड़का हुआ है.

अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन के अनुसार, अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि चीनी लड़ाकू विमान अमेरिकी विमान डब्ल्यूसी-135 से 150 फीट उपर तक आकर उड़ने लगे, जबकि अमेरिकी विमान पूर्वी चीन सागर के उपर अंतर्राष्ट्रीय वायु क्षेत्र में विकिरण का पता लगाने के अपने मिशन पर था.

और पढ़े -   स्पेन: बार्सिलोना में आतंकी हमला, कार से कुचलकर 13 लोगों की मौत

अमेरिकी वायु सेना के प्रवक्ता ले.कर्नल लॉरी हॉज ने कहा कि यह घटना बुधवार की है और चीनी विमान की निकटता और गति के मद्देनजर इसे गैर पेशेवर माना जाता है. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को चीन के साथ राजनयिक और सैन्य तरीके से सुलझाया जा रहा है.

वहीँ  चीन ने अमेरिका के इस आरोप का खंडन किया है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि ‘पिछले काफी समय से अमेरिका के जहाज और विमान चीन के इलाकों की काफी करीब से निगरानी कर रहे हैं. इसके कारण आसानी से गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं और हवा व समुद्र के अंदर अप्रत्याशित घटनाएं भी हो सकती हैं.

और पढ़े -   कत्तरी हाजियों का पहला जत्था पहुंचा सऊदी अरब

उन्होंने चेतावनी के स्वर में कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि अमेरिका चीन की सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं का सम्मान करेगा.’ मालूम हो पिछले कुछ समय से अमेरिका और चीन साउथ और ईस्ट चाइना सी को लेकर एक-दूसरे से टकराव की मुद्रा में दिख रहे हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE