दुनिया भर में सुनियोजित तरीके से मुस्लिमों के खिलाफ जो नफरत फैलाई जा रही है, उसके तहत कभी-भी किसी भी मुस्लिम को बिना सोंचे-समझे आतंकी करार दे दिया जाता है. ऐसे ही पाकिस्तानी मूल के डॉक्टर नावेद यासीन के साथ लंदन में हुआ, बावजूद इसके उन्होंने मैनचेस्टर आतंकी हमलें में घायलों की जान बचाई.

डॉ. नावेद यासीन सेलफोर्ड रॉयल हॉस्पिटल में ट्रामा और आर्थोपेडिक सर्जन हैं. पिछले सोमवार को मैनचेस्टर में हुए आतंकी हमले के शिकार लोगों की जान बचाने के लिए वे लगातार दो दिन तक जुटे रहे. बावजूद एक शख्स ने आतंकी कहकर उन्हें वापस अपने देश जाने को कहा.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी शख्स ने कहा था ‘अपने देश वापस चले जाओ. तुम आतंकवादी, हम तुम्हारे जैसे लोग यहां नहीं चाहते. लेकिन बावजूद इसके नावेद घायलों का इलाज करते रहे.

डॉ. नावेद ने इस बारें में कहा, ‘मैं अपने प्रति उसकी नफरत को दूर नहीं कर सकता, क्योंकि मेरी चमड़ी के रंग के कारण वह पूर्वाग्रह से ग्रसित है. लेकिन आतंकी हमले जाति या धर्म में भेदभाव नहीं करते हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE